जरा हटके

सबसे ज्यादा धनवान होते है वे लोग जिनके हाथों में बनता है

विष्णु रेखा क्या है?

दोस्तों अगर आपके भी हाथों में भी v रेखा बनती है तो आप बहुत जल्दी धनवान बनने वाले हैं दोस्तों यु तो हमारे हाथों में अनेक रेखाएं होती है जो हमारे भाग्य को बनाने में अहम योगदान रखती हैं इन रेखाओं के माध्यम से हस्तरेखा विद्वान हमारे कार्य और आने वाले भविष्य के बारे में बताते हैं वैसे तो हम सभी के हाथों में ही कई रेखाएं होती हैं लेकिन कुछ लोगों के हाथों में कुछ विशेष प्रकार के चिन्ह और रेखाएं होती है जो उन्हें बाकियों से अलग बनाती है जी हां ऐसे ही कई रेखाओ में से एक रेखा है विष्णु रेखा, तर्जनी और मध्यमा उंगली के बीच बनने वाली रेखा केवल उन्हीं लोगों के हाथों में बनती है जिन पर भगवान विष्णु की असीम कृपा होती है ऐसे लोग अपनी जिंदगी के हर पहलू में संपनता लिए होते हैं और हर क्षेत्र में सफलता पाते हैं तो देर किस बात की अगर आपके हाथों में भी ऐसी कोई लाइन है तो इसके बारे में ऐसी कुछ खास बातें जान लेते हैं।

दोस्तों बनावट का विशेष महत्व हस्तरेखा विज्ञान में हाथों और उंगलियों के बनावट का विशेष महत्व रहता है इससे उनके भविष्य का आकलन किया जाता है वैसे तो हाथों पर कई चिन्ह जैसे संग कमल, त्रिशूल जैसे चिन्ह पाए जाते हैं जो आपके सौभाग्य को बढ़ाते हैं लेकिन इसके अलावा विष्णु रेखा का भी खास महत्व होता है।

कहां होती है ये विष्णु रेखा?

यह रेखा हृदय रेखा के ऊपरी भाग में तर्जनी और मध्यमा उंगली के बीच स्थित होती है इसका एक शिरा तर्जनी उंगली में गुरु पर्वत के आगे तथा दूसरा सिरा गुरु पर्वत के नीचे स्थित होता है यह दोनों रेखाएं मिलकर v बनाती है विष्णु का चिन्ह v के निशान को भगवान विष्णु का चिन्ह कहा जाता है इन लोगों पर भगवान विष्णु की विशेष कृपा होती है ये लोग कोई भी काम में हाथ डालते हैं वहां से सफलता लेकर ही उढ़ते हैं।vishnu

दोस्तों ये लोग हमेशा सत्य की राह पर चलते हैं यह लोग हमेशा भगवान की भक्ति में लीन रहने वाले लोग होते हैं इन लोगों को ज्यादा मेहनत करने की जरूरत नहीं होती है उन्हें थोड़ी मेहनत में ही अच्छा परिणाम मिलता है लेकिन उसके बावजूद उनके जीवन में बहुत संघर्ष भरा होता है।
बुरे काम बुरा बुरा फल- वैसे तो यह लोग बुराई की ओर नहीं होते लेकिन अगर इन लोगों के हाथों कोई बुरा काम हो जाए तो इसका फल उन्हें तुरंत भोगना पड़ता है।

 

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button
Close

AdBlocker Detected

Please Desable Ad Blocker !